जेपी के नेतृत्व में हुए छात्र आंदोलन

|

तस्वीर द्वारा-

|

लेखक-विनोद कुमार

image

image

जेपी के नेतृत्व में हुए छात्र आंदोलन से आपने विषम भारतीय समाज की सच्चाइयों को समझा और सामाजिक बदलाव के सपने को मूर्त रूप देने के लिए झारखंड के आदिवासी इलाके को अपना ठिकाना बनायाण् इसके बाद प्रिंट मीडिया में चले आए और प्रभात खबर के साथ जुड़कर जनपक्षीय पत्रकारिता का अर्थ ढूंढने लगेण् देशज सवालों पर रांची से प्रकाशित ष्देशज स्वरष् मासिक पत्रिका के संपादक भी रहे जिसके आदिवासी.देशज विषयक अंक खासे चर्चें में रहेण् बहरहालए पत्रकारिता में रिपोर्टिंग और मीडिया के दोहरेपन से संघर्ष की लंबी पारी खेलने के बाद अब उपन्यास लिख रहे हैंण् झारखंड आंदोलन पर ष्समर शेष हैष् और ष्मिशन झारखंडष् उनके दो चर्चित उपन्यास हैं vinodkr.ranchi@gmail.com